×
userImage
Hello
 Home
 Dashboard
 Upload News
 My News

 News Terms & Condition
 News Copyright Policy
 Privacy Policy
 Cookies Policy
 Login
 Signup
 Home All Category
     Corporate      Share Market      Real Estate      Economic Policy      E-commerce      Post Anything

पिक ऋण वितरण का वेग बढाए -प्रेरणा...

/Public Reporter
Posted : Fri/Jun 18, 2021, 12:06 PM - IST

वर्धा/ कोरोना काल में व्यापारियों के साथ-साथ किसानों को भी भारी नुकसान हुआ है। इस साल मानसून की अच्छी शुरुआत से किसानों की फसलों में भी सुधार होने की संभावना है। हालांकि पिछले साल की तुलना में इस साल फसल ऋण वितरण के आंकड़े अच्छे हैं, लेकिन इसमें तेजी लाने की जरूरत है। इसके लिए बैंक किसानों की समस्याओं को...

More..

Latest News

More...
By  Public Reporter
posted : Fri/Jun 11, 2021, 05:27 AM - IST

डॉ. पंजाबराव देशमुख... /  वर्धा/नियमित रूप से फसल ऋण चुकाने वाले किसानों से अब 3 लाख रुपये तक के ऋण पर शून्य प्रतिशत ब्याज लिया जाएगा। आज की कैबिनेट बैठक में एक लाख से तीन लाख की निर्धारित अवधि के भीतर ऋण चुकाने पर एक प्रतिशत की वर्तमान दर पर दो प्रतिशत की और छूट देने का निर्णय लिया गया। कैबिनेट बैठक की अध्यक्षता मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने की। उपमुख्यमंत्री और वित्त मंत्री अजीत पवार ने हाल के बजट सत्र में घोषणा की थी कि 3 लाख रुपये तक का फसल ऋण शून्य प्रतिशत ब्याज दर पर दिया जाएगा। इस निर्णय के फलस्वरूप किसान झीरो प्रतिशत ब्याज दर पर फसली ऋण प्राप्त कर सकेंगे क्योंकि उन्हें राज्य सरकार की ओर से ब्याज दर में तीन प्रतिशत की रियायत और केन्द्र सरकार की ओर से तीन प्रतिशत की ब्याज दर में संयुक्त लाभ मिलेगा। डॉ. पंजाबराव देशमुख ब्याज रियायत योजना में निर्धारित समय के भीतर अल्पावधि फसल ऋण चुकाने वाले किसानों को प्रोत्साहन के रूप में ब्याज रियासत दी जाती है। योजना के तहत निर्धारित समय के भीतर अल्पावधि फसल ऋण चुकाने वाले किसानों को रुपये की ऋण सीमा तक 3% ब्याज रियायत दी जाती थी। निर्धारित समय तक मंत्रिमंडल ने उन्हें ऋण चुकाने पर 2% ब्याज दर की छूट देने का निर्णय लिया है। निर्धारित समय के भीतर अल्पावधि फसल ऋण चुकाने वाले किसानों को 3 लाख रुपये की सीमा तक ऋण पर 3 (तीन प्रतिशत) ब्याज रियायत मिलेगी। अत: वर्ष 2021-22 से यदि किसानों को निर्धारित अवधि के भीतर 3 लाख रुपये की ऋण सीमा तक अल्पकालीन 6%ऋण चुकाया जाता है। इससे किसान कृषि आय बढ़ाने के लिए आधुनिक कृषि आदानों जैसे बीज, उर्वरक, दवाएं खरीदने में सक्षम होंगे। इससे कृषि उत्पादन में वृद्धि होगी। साथ ही ब्याज में राहत पाने के लिए किसान फसल ऋण को समय पर चुकाएंगे। इससे बैंकों की रिकवरी को बढ़ाकर वित्तीय स्थिति को सुधारने में मदद मिलेगी।



 75
 0

Read More

By  Public Reporter
posted : Fri/May 21, 2021, 05:50 AM - IST

New Delhi / गौतम अडानी ने दी... / नई दिल्ली / चीनी बिजनेसमैन झोंग शैनशैन को पछाड़ अडाणी ग्रुप ऑफ कंपनीज के मालिक गौतम अडाणी ने एक नया मुकाम हासिल किया है। वो एशिया के दूसरे सबसे अमीर व्यक्ति बन गए है। ब्लूमबर्ग बिलियनेयर इंडेक्स के मुताबिक, एशिया के सबसे अमीर व्यक्तियों की लिस्ट में गौतम अडाणी ने दूसरे नंबर पर अपनी जगह बना ली है। इस रेस में उन्होंने चीन के अरबपति झोंग शानशान को भी पीछे छोड़ दिया है। लेकिन एशिया के सबसे अमीर शख्स मुकेश अंबानी से अभी भी पीछे है।  ब्लूमबर्ग बिलेनियर्स इंडेक्स  के मुताबिक, एशिया के सबसे अमीर व्यक्ति का ताज रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी  के पास है।   पिछले 1 साल में अडाणी टोटल गैस के शेयर 1145% चढ़े हैं। जबकि अडाणी एंटरप्राइजेज के शेयर में 827% और अडाणी ट्रांसमिशन के शेयर में 617% की उछाल आई है। इसके अलावा अडाणी ग्रीन एनर्जी के शेयर भी 433% और अडाणी पावर के शेयर 189% उछले हैं। अडाणी ग्रीन एनर्जी ने बुधवार को SB एनर्जी में Softbank की 80% हिस्सेदारी के अधिग्रहण की घोषणा की।  नेटवर्थ में आया जबरदस्त उछाल ब्लूमबर्ग बिलिनेयर इंडेक्स के मुताबिक, गौतम अडानी की नेटवर्थ  में 2.74 अरब डॉलर का इजाफा हुआ है। इससे पहले सोमवार को उनकी नेटवर्थ 3.31 अरब डॉलर यानी करीब 24233 करोड़ रुपये बढ़ी थी। इस तरह पिछले दो दिनों में 6.05 अरब डॉलर बढ़ी है। इस दौरान वह 66.5 अरब डॉलर की नेटवर्थ के साथ दुनिया के अमीरों की सूची में 6 स्थान चढ़कर 14वें नंबर पर आ गए हैं। अडानी दुनिया के अमीरों में 14वें स्थान पर गौतम अडानी 67.6 अरब डॉलर की नेटवर्थ के साथ दुनिया के अमीरों की सूची में 14वें नंबर पर आ गए हैं। दुनियाभर के अमीरों की ब्लूमबर्ग की लिस्ट में भी गौतम अडानी मुकेश अंबानी के ठीक पीछे हैं। अडानी जहां दुनिया के 14वें सबसे अमीर हैं तो 13वें स्थान पर मुकेश अंबानी हैं।



 141
 0

Read More

By  Public Reporter
posted : Tue/May 04, 2021, 01:32 AM - IST

New Delhi / बंगाल में चुनाव... / बंगाल समेत पांच राज्यों में चुनाव निपटते ही अब महंगाई का झटका लोगों को सहना पड़ेगा। कोलकाता में पेट्रोल-डीजल की कीमत 14 से 17 पैसे तक बढ़ गई है। पश्चिम बंगाल में चुनाव नतीजे आते ही पेट्रोल-डीजल के दामों में बढ़ोतरी हो गई है। कोलकाता में एक लीटर पेट्रोल का दाम 14 पैसे बढ़ गया है। राजधानी में पेट्रोल की कीमत अब 90.76 रुपये प्रति लीटर हो गया है। ऐसे ही डीजल के दाम 17 पैसे बढ़कर 83.78 रुपये प्रति लीटर हो गया है। बंगाल में 29 अप्रैल को आखिरी चरण का चुनाव हुआ था और 2 मई को विधानसभा चुनाव के नतीजे घोषित हो गए। ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस ने बंगाल में लगातार तीसरी बार सत्ता में वापसी कर ली है। 5 मई को ममता बनर्जी तीसरी बार बंगाल के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेंगी। चुनाव में टीएमसी 292 में से 213 सीटें जीतकर लगाकर तीसरी बार सत्ता में आई और बीजेपी को 77 सीटों पर जीत हासिल हुई है। ​पिछले दो महीने में देश के कई राज्यों में विधानसभा चुनाव की प्रक्रिया चल रही थी। इस दौरान करीब दो महीने तक पेट्रोल-डीजल के दाम में जनता को राहत मिलती रही। लेकिन अब चुनाव खत्म होते ही तेल कंपनियों ने फिर से दाम बढ़ाने शुरू कर दिए हैं। मंगलवार को दिल्ली में पेट्रोल जहां 15 पैसे प्रति लीटर महंगा हुआ तो डीजल में भी 18 पैसे प्रति लीटर की बढ़त हुई। गौरतलब है कि पांच राज्यों में विधानसभा और उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव के नतीजे आ चुके हैं। सरकारी तेल कंपनियों ने आज पेट्रोल और डीजल के दाम में बढ़ोतरी कर दी।



 141
 0

Read More

By  Newssyn Team
posted : Thu/Apr 08, 2021, 12:12 PM - IST

Mumbai / मुकेश-अनिल अंबानी... /  मुंबई/सेबी ने कहा अपने 85 पेज के आदेश में कहा कि रिलायंस इंडस्ट्रीज के प्रमोटर और मामले में शामिल अन्य  में अनयिमितता के मामले में यह जुर्माना लगाया गया है।  सेबी ने अपने 85 पेज के आदेश में कहा कि रिलायंस इंडस्ट्रीज के प्रमोटर और मामले में शामिल अन्य संबंधित लोगों ने कंपनी की करीब 7 फीसदी हिस्सेदारी का अधिग्रहण करने की बात सही तरीके से नही बताई  क्या है मामला?  यह मामला जनवरी 2020 का है जब 1994 में जारी 3 करोड़  वारंट के कन्वर्जन के द्वारा रिलायंस इंडस्ट्रीज में प्रमोटर की हिस्सेदारी में 6.83 फीसदी की बढ़त की गई थी। इसमे आटोप ऐसे है कि प्रमोटर समूह द्वारा  सेबी के रेगुलेशन 1997 के नियमों के मुताबिक  नही लाया गया। इस नियम के अनुसार जब कोई प्रमोटर ग्रुप 5 फीसदी से ज्यादा अतिरिक्त  हिस्सेदारी ले रहा है तो उसे उसी वित्त साल माइनॉरिटी इनवेस्टर्स के लिए एक ऑफर लाना होता है। होगी कार्रवाई अपने आदेश में सेबी ने  कहा कि प्रमोटर ग्रुप और अन्य आरोपियों ने टेकओवर रेगुलेशन 11(1) का उल्लंघन किया है। सेबी ने इसके लिए मुकेश अंबानी, अनिल अंबानी,टीना अंबानी रिलायंस इंड्रस्ट्रीज होल्डिंग, रिलायंस रियल्टी और कई  अन्य लोगो एव कंपनीयों पर 25 करोड़ का जुर्माना लगाया है।यह जो जुर्माना सेबी ने लगाया है यह सबको मिलकर देना होगा। अगर आदेश के 45 दिन के भीतर  नही दिया गया तो सेबी इन लोगों के खिलाफ कार्रवाई करेगी.



 144
 0

Read More

By  Newssyn Team
posted : Sat/Oct 31, 2020, 11:01 AM - IST

New Delhi / फ्यूचर ग्रुप: अदालत... / नई दिल्ली, किशोर बियानी के फ्यूचर ग्रुप और रिलायंस इंडस्ट्रीज के बीच हुए सौदे को सिंगापूर की मध्यस्थता अदालत ने अन्तरिम रोक लगा दी है जिसके बाद सोमवार को फ्यूचर ग्रुप ने सिंगापूर की मध्यस्थता अदालत के अन्तरिम रोक को भारत के न्यायिक मंच पर चुनौती देने का संकेत दिया है। कारण यह है कि अमेज़न ने इसे फ्यूचर ग्रुप के साथ अपने पहले से ही हुए शेयरधारक-करार का उल्लंघन बताया है जिसके आधार पर फ्यूचर समूह के कारोबार को रिलायंस इंडस्ट्रीज को बेचने का विरोध किया है। सिंगापूर के मध्यस्थता अदालत ने अमेज़न कंपनी की याचिका पर 24,713 करोड़ रुपए वाले इस सौदे पर अंतरिम रोक लगाई है। एफ आर एल यानि फ्यूचर रिटेल लिमिटेड का कहना है कि वह करार में शामिल ही नहीं है जिसके आधार पर अमेज़न ने मामला दायर किया है। इसी कारण बिग बाज़ार और ईजी डे स्टोर जैसे खुदरा स्टोर का संचालन करने वाली फ्यूचर ग्रुप ने सोमवार को यह बयान दिया कि वह सिंगापूर अंतर्राष्ट्रीय मध्यस्थता केंद्र के अन्तरिम आदेश का अध्ययन कर रहा है। फ्यूचर ग्रुप ने कहा है कि मध्यस्थ निर्णय की अर्जी दे कर रिलायंस के साथ सौदे को रोका नहीं जा सकता। एफ आर एल ने कहा कि उनके निदेशक मण्डल ने जो भी कदम उठाया है वह पूरी तरह शायर धारकों के हित में है और इन कदमों को मध्यस्थता अदालत द्वारा किसी ऐसे करार के आधार पर रोका नहीं जा सकता जिसमें एफ आर एल शामिल ही नहीं है। एफ आर एल के सभी करार उनके विस्तृत आशयों और उद्देश्यों के लिए भारतीय क़ानूनों और भारतीय मध्यस्थता अधिनियम से बंधे हैं। बता दें कि फ्यूचर ग्रुप को अपना खुदरा कारोबार रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड को बेचने से सिंगापुर की मध्यस्थता अदालत ने अंतरिम रूप से रविवार को रोक लगाई है। अमेजन ने पिछले वर्ष फ्यूचर ग्रुप की एक असूचीबद्ध कंपनी की 49 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदने पर सहमति जताई थी। जिसमें शर्त रखी गई थी कि अमेजन को तीन से 10 साल की अवधि के बाद एफ आर एल की हिस्सेदारी खरीदने का अधिकार होगा। इसी बीच कर्ज से लदे किशोर बियानी के फ्यूचर ग्रुप ने अपने खुदरा स्टोर, थोक और लाजिस्टिक्स कारोबार को रिलायंस इंडस्ट्रीज को बेचने का करार कर लिया जिसके विरुद्ध अमेजन कंपनी ने मध्यस्थता अदालत का दरवाजा खटखटाया है।



 656
 0

Read More

By  s verma
posted : Wed/Oct 14, 2020, 11:57 AM - IST

Mumbai / मॉर्गन स्टैनली- जून... /   मुंबई, ग्लोबल इन्वेस्टमेंट बैंक मॉर्गन स्टैनली का मानना है कि शेयर बाजार में तेजी बनी रही तो जून 2021 तक सेंसेक्स 45,000 के स्तर पर पहुंच जाएगा। मॉर्गन स्टैनली ने कहा, ‘हम स्टॉक्स पिकर्स मार्केट में हैं और ओवरऑल बाजार बेहतर प्रदर्शन करता रहेगा। स्टॉक्स पिकर्स मार्केट का मतलब यह है कि कुछ स्टॉक्स और सेक्टर्स के इंडेक्स ऐसे हैं जो अन्य शेयरों या बेंचमार्क की तुलना में बेहतर प्रदर्शन कर रहे हैं। साथ ही मॉर्गन स्टैनली ने निवेश के लिए डिफेंसिव के बजाय साइक्लिकल रणनीति अपनाने को तरजीह दी है।



 628
 0

Read More

By  Public Reporter
posted : Tue/Oct 13, 2020, 01:34 AM - IST

Navi Mumbai / पारले जी- उद्योगपति... / मुंबई, ‘टेलीविजन रेटिंग प्वाइंट’ (टीआरपी) कांड का भंडाफोंड़ होंने के बाद बिस्कुट निर्माता कंपनी पारले प्रॉडक्ट्स ने फैसला किया है कि वह पारले जी बिस्कुट का विज्ञापन ऐसे चैनलों पर नहीं करेगी, जो जहरीले कंटेंट प्रसारित करते हैं। कंपनी के वरिष्ठ अधिकारी कृष्णराव बुद्ध ने कहा कि कंपनी समाज में जहर घोलने वाले, आक्रामक कंटेट को प्रसारित करने वाले समाचार चैनलों पर विज्ञापन नहीं देगी। उन्होंने कहा, "हम ऐसी संभावनाएं तलाश रहे हैं, जिसमें अन्य विज्ञापनकर्ता एक साथ आएं और समाचार चैनलों पर विज्ञापन देने के अपने खर्च पर संयम रखें ताकि सभी समाचार चैनलों को यह स्पष्ट संकेत मिले कि उन्हें अपनी सामग्री (कंटेट) में बदलाव लाना होगा।' मालूम हो, इससे पहले उद्योगपति राजीव बजाज भी ऐसी ही घोषणा कर चुके हैं।



 469
 0

Read More

By  Maahi Newser
posted : Thu/Jan 01, 1970, 05:30 AM - IST

Delhi / रेलटेल कॉरपोरेशन का... / नई दिल्ली, सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी रेलटेल कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड ने 700 करोड़ रुपए के आईपीओ लाने के लिए पूंजी बाजार नियामक सेबी के पास दस्तावेज दाखिल किए हैं। कंपनी आईपीओ के जरिए 700 करोड़ रुपए जुटाने की योजना है। भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (सेबी) के पास दाखिल मसौदा दस्तावेज के मुताबिक आईपीओ के तहत सरकार कंपनी में अपने 8.66 करोड़ शेयर बेचने की पेशकश करेगी। रेलटेल एक मिनी रत्न कंपनी है। यह देश की सबसे बड़ी दूरसंचार बुनियादी ढांचा उपलब्ध कराने वाली कंपनी है। कंपनी का अपना अलग संचार का बुनियादी ढांचा है। रेलवे लाइन के साथ-साथ बिछे ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क पर विशेष अधिकार है। कंपनी के ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क देशभर में 55,000 किलोमीटर में फैला है। इसमें 5,677 रेलवे स्टेशन आते हैं। केंद्रीय कैबिनेट ने दिसंबर, 2018 में रेलटेल कॉरपोरेशन में सरकार की 25 फीसदी तक हिस्सेदारी बेचने के प्रस्ताव को मंजूरी दी थी। मर्चेंट बैंकिंग सूत्रों ने यह जानकारी दी है कि आईसीआईसीआई सिक्युरिटीज, आईडीबीआई कैपिटल, एसबीआई कैपिटल मार्केट्स लिमिटेड इस इश्यू के मर्चेंट बैंकर हैं।



 681
 0

Read More

papular story

More...
By  Maahi Newser
posted : Thu/Jan 01, 1970, 05:30 AM - IST

Delhi / रेलटेल कॉरपोरेशन का... / नई दिल्ली, सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी रेलटेल कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड ने 700 करोड़ रुपए के आईपीओ लाने के लिए पूंजी बाजार नियामक सेबी के पास दस्तावेज दाखिल किए हैं। कंपनी आईपीओ के जरिए 700 करोड़ रुपए जुटाने की योजना है। भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (सेबी) के पास दाखिल मसौदा दस्तावेज के मुताबिक आईपीओ के तहत सरकार कंपनी में अपने 8.66 करोड़ शेयर बेचने की पेशकश करेगी। रेलटेल एक मिनी रत्न कंपनी है। यह देश की सबसे बड़ी दूरसंचार बुनियादी ढांचा उपलब्ध कराने वाली कंपनी है। कंपनी का अपना अलग संचार का बुनियादी ढांचा है। रेलवे लाइन के साथ-साथ बिछे ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क पर विशेष अधिकार है। कंपनी के ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क देशभर में 55,000 किलोमीटर में फैला है। इसमें 5,677 रेलवे स्टेशन आते हैं। केंद्रीय कैबिनेट ने दिसंबर, 2018 में रेलटेल कॉरपोरेशन में सरकार की 25 फीसदी तक हिस्सेदारी बेचने के प्रस्ताव को मंजूरी दी थी। मर्चेंट बैंकिंग सूत्रों ने यह जानकारी दी है कि आईसीआईसीआई सिक्युरिटीज, आईडीबीआई कैपिटल, एसबीआई कैपिटल मार्केट्स लिमिटेड इस इश्यू के मर्चेंट बैंकर हैं।



 681
 0

Read More

By  Public Reporter
posted : Tue/Oct 13, 2020, 01:34 AM - IST

Navi Mumbai / पारले जी- उद्योगपति... / मुंबई, ‘टेलीविजन रेटिंग प्वाइंट’ (टीआरपी) कांड का भंडाफोंड़ होंने के बाद बिस्कुट निर्माता कंपनी पारले प्रॉडक्ट्स ने फैसला किया है कि वह पारले जी बिस्कुट का विज्ञापन ऐसे चैनलों पर नहीं करेगी, जो जहरीले कंटेंट प्रसारित करते हैं। कंपनी के वरिष्ठ अधिकारी कृष्णराव बुद्ध ने कहा कि कंपनी समाज में जहर घोलने वाले, आक्रामक कंटेट को प्रसारित करने वाले समाचार चैनलों पर विज्ञापन नहीं देगी। उन्होंने कहा, "हम ऐसी संभावनाएं तलाश रहे हैं, जिसमें अन्य विज्ञापनकर्ता एक साथ आएं और समाचार चैनलों पर विज्ञापन देने के अपने खर्च पर संयम रखें ताकि सभी समाचार चैनलों को यह स्पष्ट संकेत मिले कि उन्हें अपनी सामग्री (कंटेट) में बदलाव लाना होगा।' मालूम हो, इससे पहले उद्योगपति राजीव बजाज भी ऐसी ही घोषणा कर चुके हैं।



 469
 0

Read More

By  s verma
posted : Wed/Oct 14, 2020, 11:57 AM - IST

Mumbai / मॉर्गन स्टैनली- जून... /   मुंबई, ग्लोबल इन्वेस्टमेंट बैंक मॉर्गन स्टैनली का मानना है कि शेयर बाजार में तेजी बनी रही तो जून 2021 तक सेंसेक्स 45,000 के स्तर पर पहुंच जाएगा। मॉर्गन स्टैनली ने कहा, ‘हम स्टॉक्स पिकर्स मार्केट में हैं और ओवरऑल बाजार बेहतर प्रदर्शन करता रहेगा। स्टॉक्स पिकर्स मार्केट का मतलब यह है कि कुछ स्टॉक्स और सेक्टर्स के इंडेक्स ऐसे हैं जो अन्य शेयरों या बेंचमार्क की तुलना में बेहतर प्रदर्शन कर रहे हैं। साथ ही मॉर्गन स्टैनली ने निवेश के लिए डिफेंसिव के बजाय साइक्लिकल रणनीति अपनाने को तरजीह दी है।



 628
 0

Read More

By  Newssyn Team
posted : Sat/Oct 31, 2020, 11:01 AM - IST

New Delhi / फ्यूचर ग्रुप: अदालत... / नई दिल्ली, किशोर बियानी के फ्यूचर ग्रुप और रिलायंस इंडस्ट्रीज के बीच हुए सौदे को सिंगापूर की मध्यस्थता अदालत ने अन्तरिम रोक लगा दी है जिसके बाद सोमवार को फ्यूचर ग्रुप ने सिंगापूर की मध्यस्थता अदालत के अन्तरिम रोक को भारत के न्यायिक मंच पर चुनौती देने का संकेत दिया है। कारण यह है कि अमेज़न ने इसे फ्यूचर ग्रुप के साथ अपने पहले से ही हुए शेयरधारक-करार का उल्लंघन बताया है जिसके आधार पर फ्यूचर समूह के कारोबार को रिलायंस इंडस्ट्रीज को बेचने का विरोध किया है। सिंगापूर के मध्यस्थता अदालत ने अमेज़न कंपनी की याचिका पर 24,713 करोड़ रुपए वाले इस सौदे पर अंतरिम रोक लगाई है। एफ आर एल यानि फ्यूचर रिटेल लिमिटेड का कहना है कि वह करार में शामिल ही नहीं है जिसके आधार पर अमेज़न ने मामला दायर किया है। इसी कारण बिग बाज़ार और ईजी डे स्टोर जैसे खुदरा स्टोर का संचालन करने वाली फ्यूचर ग्रुप ने सोमवार को यह बयान दिया कि वह सिंगापूर अंतर्राष्ट्रीय मध्यस्थता केंद्र के अन्तरिम आदेश का अध्ययन कर रहा है। फ्यूचर ग्रुप ने कहा है कि मध्यस्थ निर्णय की अर्जी दे कर रिलायंस के साथ सौदे को रोका नहीं जा सकता। एफ आर एल ने कहा कि उनके निदेशक मण्डल ने जो भी कदम उठाया है वह पूरी तरह शायर धारकों के हित में है और इन कदमों को मध्यस्थता अदालत द्वारा किसी ऐसे करार के आधार पर रोका नहीं जा सकता जिसमें एफ आर एल शामिल ही नहीं है। एफ आर एल के सभी करार उनके विस्तृत आशयों और उद्देश्यों के लिए भारतीय क़ानूनों और भारतीय मध्यस्थता अधिनियम से बंधे हैं। बता दें कि फ्यूचर ग्रुप को अपना खुदरा कारोबार रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड को बेचने से सिंगापुर की मध्यस्थता अदालत ने अंतरिम रूप से रविवार को रोक लगाई है। अमेजन ने पिछले वर्ष फ्यूचर ग्रुप की एक असूचीबद्ध कंपनी की 49 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदने पर सहमति जताई थी। जिसमें शर्त रखी गई थी कि अमेजन को तीन से 10 साल की अवधि के बाद एफ आर एल की हिस्सेदारी खरीदने का अधिकार होगा। इसी बीच कर्ज से लदे किशोर बियानी के फ्यूचर ग्रुप ने अपने खुदरा स्टोर, थोक और लाजिस्टिक्स कारोबार को रिलायंस इंडस्ट्रीज को बेचने का करार कर लिया जिसके विरुद्ध अमेजन कंपनी ने मध्यस्थता अदालत का दरवाजा खटखटाया है।



 656
 0

Read More

By  Newssyn Team
posted : Thu/Apr 08, 2021, 12:12 PM - IST

Mumbai / मुकेश-अनिल अंबानी... /  मुंबई/सेबी ने कहा अपने 85 पेज के आदेश में कहा कि रिलायंस इंडस्ट्रीज के प्रमोटर और मामले में शामिल अन्य  में अनयिमितता के मामले में यह जुर्माना लगाया गया है।  सेबी ने अपने 85 पेज के आदेश में कहा कि रिलायंस इंडस्ट्रीज के प्रमोटर और मामले में शामिल अन्य संबंधित लोगों ने कंपनी की करीब 7 फीसदी हिस्सेदारी का अधिग्रहण करने की बात सही तरीके से नही बताई  क्या है मामला?  यह मामला जनवरी 2020 का है जब 1994 में जारी 3 करोड़  वारंट के कन्वर्जन के द्वारा रिलायंस इंडस्ट्रीज में प्रमोटर की हिस्सेदारी में 6.83 फीसदी की बढ़त की गई थी। इसमे आटोप ऐसे है कि प्रमोटर समूह द्वारा  सेबी के रेगुलेशन 1997 के नियमों के मुताबिक  नही लाया गया। इस नियम के अनुसार जब कोई प्रमोटर ग्रुप 5 फीसदी से ज्यादा अतिरिक्त  हिस्सेदारी ले रहा है तो उसे उसी वित्त साल माइनॉरिटी इनवेस्टर्स के लिए एक ऑफर लाना होता है। होगी कार्रवाई अपने आदेश में सेबी ने  कहा कि प्रमोटर ग्रुप और अन्य आरोपियों ने टेकओवर रेगुलेशन 11(1) का उल्लंघन किया है। सेबी ने इसके लिए मुकेश अंबानी, अनिल अंबानी,टीना अंबानी रिलायंस इंड्रस्ट्रीज होल्डिंग, रिलायंस रियल्टी और कई  अन्य लोगो एव कंपनीयों पर 25 करोड़ का जुर्माना लगाया है।यह जो जुर्माना सेबी ने लगाया है यह सबको मिलकर देना होगा। अगर आदेश के 45 दिन के भीतर  नही दिया गया तो सेबी इन लोगों के खिलाफ कार्रवाई करेगी.



 144
 0

Read More

By  Public Reporter
posted : Tue/May 04, 2021, 01:32 AM - IST

New Delhi / बंगाल में चुनाव... / बंगाल समेत पांच राज्यों में चुनाव निपटते ही अब महंगाई का झटका लोगों को सहना पड़ेगा। कोलकाता में पेट्रोल-डीजल की कीमत 14 से 17 पैसे तक बढ़ गई है। पश्चिम बंगाल में चुनाव नतीजे आते ही पेट्रोल-डीजल के दामों में बढ़ोतरी हो गई है। कोलकाता में एक लीटर पेट्रोल का दाम 14 पैसे बढ़ गया है। राजधानी में पेट्रोल की कीमत अब 90.76 रुपये प्रति लीटर हो गया है। ऐसे ही डीजल के दाम 17 पैसे बढ़कर 83.78 रुपये प्रति लीटर हो गया है। बंगाल में 29 अप्रैल को आखिरी चरण का चुनाव हुआ था और 2 मई को विधानसभा चुनाव के नतीजे घोषित हो गए। ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस ने बंगाल में लगातार तीसरी बार सत्ता में वापसी कर ली है। 5 मई को ममता बनर्जी तीसरी बार बंगाल के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेंगी। चुनाव में टीएमसी 292 में से 213 सीटें जीतकर लगाकर तीसरी बार सत्ता में आई और बीजेपी को 77 सीटों पर जीत हासिल हुई है। ​पिछले दो महीने में देश के कई राज्यों में विधानसभा चुनाव की प्रक्रिया चल रही थी। इस दौरान करीब दो महीने तक पेट्रोल-डीजल के दाम में जनता को राहत मिलती रही। लेकिन अब चुनाव खत्म होते ही तेल कंपनियों ने फिर से दाम बढ़ाने शुरू कर दिए हैं। मंगलवार को दिल्ली में पेट्रोल जहां 15 पैसे प्रति लीटर महंगा हुआ तो डीजल में भी 18 पैसे प्रति लीटर की बढ़त हुई। गौरतलब है कि पांच राज्यों में विधानसभा और उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव के नतीजे आ चुके हैं। सरकारी तेल कंपनियों ने आज पेट्रोल और डीजल के दाम में बढ़ोतरी कर दी।



 141
 0

Read More

By  Public Reporter
posted : Fri/May 21, 2021, 05:50 AM - IST

New Delhi / गौतम अडानी ने दी... / नई दिल्ली / चीनी बिजनेसमैन झोंग शैनशैन को पछाड़ अडाणी ग्रुप ऑफ कंपनीज के मालिक गौतम अडाणी ने एक नया मुकाम हासिल किया है। वो एशिया के दूसरे सबसे अमीर व्यक्ति बन गए है। ब्लूमबर्ग बिलियनेयर इंडेक्स के मुताबिक, एशिया के सबसे अमीर व्यक्तियों की लिस्ट में गौतम अडाणी ने दूसरे नंबर पर अपनी जगह बना ली है। इस रेस में उन्होंने चीन के अरबपति झोंग शानशान को भी पीछे छोड़ दिया है। लेकिन एशिया के सबसे अमीर शख्स मुकेश अंबानी से अभी भी पीछे है।  ब्लूमबर्ग बिलेनियर्स इंडेक्स  के मुताबिक, एशिया के सबसे अमीर व्यक्ति का ताज रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी  के पास है।   पिछले 1 साल में अडाणी टोटल गैस के शेयर 1145% चढ़े हैं। जबकि अडाणी एंटरप्राइजेज के शेयर में 827% और अडाणी ट्रांसमिशन के शेयर में 617% की उछाल आई है। इसके अलावा अडाणी ग्रीन एनर्जी के शेयर भी 433% और अडाणी पावर के शेयर 189% उछले हैं। अडाणी ग्रीन एनर्जी ने बुधवार को SB एनर्जी में Softbank की 80% हिस्सेदारी के अधिग्रहण की घोषणा की।  नेटवर्थ में आया जबरदस्त उछाल ब्लूमबर्ग बिलिनेयर इंडेक्स के मुताबिक, गौतम अडानी की नेटवर्थ  में 2.74 अरब डॉलर का इजाफा हुआ है। इससे पहले सोमवार को उनकी नेटवर्थ 3.31 अरब डॉलर यानी करीब 24233 करोड़ रुपये बढ़ी थी। इस तरह पिछले दो दिनों में 6.05 अरब डॉलर बढ़ी है। इस दौरान वह 66.5 अरब डॉलर की नेटवर्थ के साथ दुनिया के अमीरों की सूची में 6 स्थान चढ़कर 14वें नंबर पर आ गए हैं। अडानी दुनिया के अमीरों में 14वें स्थान पर गौतम अडानी 67.6 अरब डॉलर की नेटवर्थ के साथ दुनिया के अमीरों की सूची में 14वें नंबर पर आ गए हैं। दुनियाभर के अमीरों की ब्लूमबर्ग की लिस्ट में भी गौतम अडानी मुकेश अंबानी के ठीक पीछे हैं। अडानी जहां दुनिया के 14वें सबसे अमीर हैं तो 13वें स्थान पर मुकेश अंबानी हैं।



 141
 0

Read More

By  Public Reporter
posted : Fri/Jun 11, 2021, 05:27 AM - IST

डॉ. पंजाबराव देशमुख... /  वर्धा/नियमित रूप से फसल ऋण चुकाने वाले किसानों से अब 3 लाख रुपये तक के ऋण पर शून्य प्रतिशत ब्याज लिया जाएगा। आज की कैबिनेट बैठक में एक लाख से तीन लाख की निर्धारित अवधि के भीतर ऋण चुकाने पर एक प्रतिशत की वर्तमान दर पर दो प्रतिशत की और छूट देने का निर्णय लिया गया। कैबिनेट बैठक की अध्यक्षता मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने की। उपमुख्यमंत्री और वित्त मंत्री अजीत पवार ने हाल के बजट सत्र में घोषणा की थी कि 3 लाख रुपये तक का फसल ऋण शून्य प्रतिशत ब्याज दर पर दिया जाएगा। इस निर्णय के फलस्वरूप किसान झीरो प्रतिशत ब्याज दर पर फसली ऋण प्राप्त कर सकेंगे क्योंकि उन्हें राज्य सरकार की ओर से ब्याज दर में तीन प्रतिशत की रियायत और केन्द्र सरकार की ओर से तीन प्रतिशत की ब्याज दर में संयुक्त लाभ मिलेगा। डॉ. पंजाबराव देशमुख ब्याज रियायत योजना में निर्धारित समय के भीतर अल्पावधि फसल ऋण चुकाने वाले किसानों को प्रोत्साहन के रूप में ब्याज रियासत दी जाती है। योजना के तहत निर्धारित समय के भीतर अल्पावधि फसल ऋण चुकाने वाले किसानों को रुपये की ऋण सीमा तक 3% ब्याज रियायत दी जाती थी। निर्धारित समय तक मंत्रिमंडल ने उन्हें ऋण चुकाने पर 2% ब्याज दर की छूट देने का निर्णय लिया है। निर्धारित समय के भीतर अल्पावधि फसल ऋण चुकाने वाले किसानों को 3 लाख रुपये की सीमा तक ऋण पर 3 (तीन प्रतिशत) ब्याज रियायत मिलेगी। अत: वर्ष 2021-22 से यदि किसानों को निर्धारित अवधि के भीतर 3 लाख रुपये की ऋण सीमा तक अल्पकालीन 6%ऋण चुकाया जाता है। इससे किसान कृषि आय बढ़ाने के लिए आधुनिक कृषि आदानों जैसे बीज, उर्वरक, दवाएं खरीदने में सक्षम होंगे। इससे कृषि उत्पादन में वृद्धि होगी। साथ ही ब्याज में राहत पाने के लिए किसान फसल ऋण को समय पर चुकाएंगे। इससे बैंकों की रिकवरी को बढ़ाकर वित्तीय स्थिति को सुधारने में मदद मिलेगी।



 75
 0

Read More

By  Public Reporter
posted : Fri/Jun 18, 2021, 12:06 PM - IST

Wardha / पिक ऋण वितरण का वेग... / वर्धा/ कोरोना काल में व्यापारियों के साथ-साथ किसानों को भी भारी नुकसान हुआ है। इस साल मानसून की अच्छी शुरुआत से किसानों की फसलों में भी सुधार होने की संभावना है। हालांकि पिछले साल की तुलना में इस साल फसल ऋण वितरण के आंकड़े अच्छे हैं, लेकिन इसमें तेजी लाने की जरूरत है। इसके लिए बैंक किसानों की समस्याओं को समझा जाए।कोई तकनीकी समस्या हो तो जिला अग्रणी बैंक के प्रबंधक से संपर्क कर समाधान किया जाए। सभी किसानों को पिक ऋन के नवीनीकरण के लिए पत्र या एसएमएस द्वारा सूचित किया जाना चाहिए और साथ ही किसानों को नियमित पिकर खाताधारकों के लिए सरकार द्वारा घोषित ब्याज राहत योजनाओं के बारे में सूचित किया जाना चाहिए। फसल योजना का लाभ लेने के लिए किसानों को भी प्रोत्साहित किया जाना चाहिए। जिन बैंकों के अधिकतम ऋणों का वितरण औसत से कम है, उन्हें वरिष्ठ कार्यालय के साथ पत्राचार करके कार्रवाई करनी चाहिए। देशभ्रातर ने यह भी कहा कि खरीफ सीजन बीनने वालों का लक्ष्य 30 जून तक पूरा कर लिया जाना चाहिए।           जिला अग्रणी बैंक के जिला प्रबंधक वैभव लहाने ने बताया कि इस वर्ष 14 जून तक 13,034 किसानों को 25.50 प्रतिशत की दर से 151.48 करोड़ रुपये का वितरण किया जा चुका है| पिछले वर्ष 15 जून तक 7,920 किसानों को 88.13 करोड़ रुपये का ऋण वितरित किया गया था। बैठक की शुरुआत में, प्रमुख जिला प्रबंधक वर्धा ने "कोरोना काल" के दौरान बैंक कर्मचारियों द्वारा प्रदान की गई सेवाओं के साथ-साथ ग्राहकों को कोरोना संक्रमण से बचाने के लिए किए गए विभिन्न उपायों जैसे बैरिकेडिंग, सर्कल बनाना, मंडप बनाना आदि के बारे में बताया। छाया के लिए, गेट पर सैनिटाइजर की व्यवस्था। पर बधाई। "बैंक एट योर डोरस्टेप" अभियान के माध्यम से लगभग 70,000 ग्राहकों को निराधार पेंशन योजना, विधवा पेंशन योजना, पीएम किसान सम्मान योजना आदि प्रदान किया गया है। ग्राम पंचायतों में हितग्राहियों को लाभ वितरण करने के लिए बैंक मिन, बैंक सखी, बैंक, ग्राम पंचायत और डाकघरों द्वारा की गई पहल और समन्वय के लिए जिला कलेक्टर प्रेरणा देशभ्रातर द्वारा विशेष धन्यवाद दिया गया| बैठक में सभी बैंकों के जिला समन्वयक/प्रतिनिधियों ने भाग लिया।



 59
 0

Read More

Corporate

More...
By  Public Reporter
posted : Tue/Oct 13, 2020, 01:34 AM - IST

Navi Mumbai / पारले जी- उद्योगपति... / मुंबई, ‘टेलीविजन रेटिंग प्वाइंट’ (टीआरपी) कांड का भंडाफोंड़ होंने के बाद बिस्कुट निर्माता कंपनी पारले प्रॉडक्ट्स ने फैसला किया है कि वह पारले जी बिस्कुट का विज्ञापन ऐसे चैनलों पर नहीं करेगी, जो जहरीले कंटेंट प्रसारित करते हैं। कंपनी के वरिष्ठ अधिकारी कृष्णराव बुद्ध ने कहा कि कंपनी समाज में जहर घोलने वाले, आक्रामक कंटेट को प्रसारित करने वाले समाचार चैनलों पर विज्ञापन नहीं देगी। उन्होंने कहा, "हम ऐसी संभावनाएं तलाश रहे हैं, जिसमें अन्य विज्ञापनकर्ता एक साथ आएं और समाचार चैनलों पर विज्ञापन देने के अपने खर्च पर संयम रखें ताकि सभी समाचार चैनलों को यह स्पष्ट संकेत मिले कि उन्हें अपनी सामग्री (कंटेट) में बदलाव लाना होगा।' मालूम हो, इससे पहले उद्योगपति राजीव बजाज भी ऐसी ही घोषणा कर चुके हैं।



 469
 0

Read More

By  Newssyn Team
posted : Sat/Oct 31, 2020, 11:01 AM - IST

New Delhi / फ्यूचर ग्रुप: अदालत... / नई दिल्ली, किशोर बियानी के फ्यूचर ग्रुप और रिलायंस इंडस्ट्रीज के बीच हुए सौदे को सिंगापूर की मध्यस्थता अदालत ने अन्तरिम रोक लगा दी है जिसके बाद सोमवार को फ्यूचर ग्रुप ने सिंगापूर की मध्यस्थता अदालत के अन्तरिम रोक को भारत के न्यायिक मंच पर चुनौती देने का संकेत दिया है। कारण यह है कि अमेज़न ने इसे फ्यूचर ग्रुप के साथ अपने पहले से ही हुए शेयरधारक-करार का उल्लंघन बताया है जिसके आधार पर फ्यूचर समूह के कारोबार को रिलायंस इंडस्ट्रीज को बेचने का विरोध किया है। सिंगापूर के मध्यस्थता अदालत ने अमेज़न कंपनी की याचिका पर 24,713 करोड़ रुपए वाले इस सौदे पर अंतरिम रोक लगाई है। एफ आर एल यानि फ्यूचर रिटेल लिमिटेड का कहना है कि वह करार में शामिल ही नहीं है जिसके आधार पर अमेज़न ने मामला दायर किया है। इसी कारण बिग बाज़ार और ईजी डे स्टोर जैसे खुदरा स्टोर का संचालन करने वाली फ्यूचर ग्रुप ने सोमवार को यह बयान दिया कि वह सिंगापूर अंतर्राष्ट्रीय मध्यस्थता केंद्र के अन्तरिम आदेश का अध्ययन कर रहा है। फ्यूचर ग्रुप ने कहा है कि मध्यस्थ निर्णय की अर्जी दे कर रिलायंस के साथ सौदे को रोका नहीं जा सकता। एफ आर एल ने कहा कि उनके निदेशक मण्डल ने जो भी कदम उठाया है वह पूरी तरह शायर धारकों के हित में है और इन कदमों को मध्यस्थता अदालत द्वारा किसी ऐसे करार के आधार पर रोका नहीं जा सकता जिसमें एफ आर एल शामिल ही नहीं है। एफ आर एल के सभी करार उनके विस्तृत आशयों और उद्देश्यों के लिए भारतीय क़ानूनों और भारतीय मध्यस्थता अधिनियम से बंधे हैं। बता दें कि फ्यूचर ग्रुप को अपना खुदरा कारोबार रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड को बेचने से सिंगापुर की मध्यस्थता अदालत ने अंतरिम रूप से रविवार को रोक लगाई है। अमेजन ने पिछले वर्ष फ्यूचर ग्रुप की एक असूचीबद्ध कंपनी की 49 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदने पर सहमति जताई थी। जिसमें शर्त रखी गई थी कि अमेजन को तीन से 10 साल की अवधि के बाद एफ आर एल की हिस्सेदारी खरीदने का अधिकार होगा। इसी बीच कर्ज से लदे किशोर बियानी के फ्यूचर ग्रुप ने अपने खुदरा स्टोर, थोक और लाजिस्टिक्स कारोबार को रिलायंस इंडस्ट्रीज को बेचने का करार कर लिया जिसके विरुद्ध अमेजन कंपनी ने मध्यस्थता अदालत का दरवाजा खटखटाया है।



 656
 0

Read More

By  Public Reporter
posted : Fri/May 21, 2021, 05:50 AM - IST

New Delhi / गौतम अडानी ने दी... / नई दिल्ली / चीनी बिजनेसमैन झोंग शैनशैन को पछाड़ अडाणी ग्रुप ऑफ कंपनीज के मालिक गौतम अडाणी ने एक नया मुकाम हासिल किया है। वो एशिया के दूसरे सबसे अमीर व्यक्ति बन गए है। ब्लूमबर्ग बिलियनेयर इंडेक्स के मुताबिक, एशिया के सबसे अमीर व्यक्तियों की लिस्ट में गौतम अडाणी ने दूसरे नंबर पर अपनी जगह बना ली है। इस रेस में उन्होंने चीन के अरबपति झोंग शानशान को भी पीछे छोड़ दिया है। लेकिन एशिया के सबसे अमीर शख्स मुकेश अंबानी से अभी भी पीछे है।  ब्लूमबर्ग बिलेनियर्स इंडेक्स  के मुताबिक, एशिया के सबसे अमीर व्यक्ति का ताज रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी  के पास है।   पिछले 1 साल में अडाणी टोटल गैस के शेयर 1145% चढ़े हैं। जबकि अडाणी एंटरप्राइजेज के शेयर में 827% और अडाणी ट्रांसमिशन के शेयर में 617% की उछाल आई है। इसके अलावा अडाणी ग्रीन एनर्जी के शेयर भी 433% और अडाणी पावर के शेयर 189% उछले हैं। अडाणी ग्रीन एनर्जी ने बुधवार को SB एनर्जी में Softbank की 80% हिस्सेदारी के अधिग्रहण की घोषणा की।  नेटवर्थ में आया जबरदस्त उछाल ब्लूमबर्ग बिलिनेयर इंडेक्स के मुताबिक, गौतम अडानी की नेटवर्थ  में 2.74 अरब डॉलर का इजाफा हुआ है। इससे पहले सोमवार को उनकी नेटवर्थ 3.31 अरब डॉलर यानी करीब 24233 करोड़ रुपये बढ़ी थी। इस तरह पिछले दो दिनों में 6.05 अरब डॉलर बढ़ी है। इस दौरान वह 66.5 अरब डॉलर की नेटवर्थ के साथ दुनिया के अमीरों की सूची में 6 स्थान चढ़कर 14वें नंबर पर आ गए हैं। अडानी दुनिया के अमीरों में 14वें स्थान पर गौतम अडानी 67.6 अरब डॉलर की नेटवर्थ के साथ दुनिया के अमीरों की सूची में 14वें नंबर पर आ गए हैं। दुनियाभर के अमीरों की ब्लूमबर्ग की लिस्ट में भी गौतम अडानी मुकेश अंबानी के ठीक पीछे हैं। अडानी जहां दुनिया के 14वें सबसे अमीर हैं तो 13वें स्थान पर मुकेश अंबानी हैं।



 141
 0

Read More

By  Public Reporter
posted : Fri/Jun 11, 2021, 05:27 AM - IST

डॉ. पंजाबराव देशमुख... /  वर्धा/नियमित रूप से फसल ऋण चुकाने वाले किसानों से अब 3 लाख रुपये तक के ऋण पर शून्य प्रतिशत ब्याज लिया जाएगा। आज की कैबिनेट बैठक में एक लाख से तीन लाख की निर्धारित अवधि के भीतर ऋण चुकाने पर एक प्रतिशत की वर्तमान दर पर दो प्रतिशत की और छूट देने का निर्णय लिया गया। कैबिनेट बैठक की अध्यक्षता मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने की। उपमुख्यमंत्री और वित्त मंत्री अजीत पवार ने हाल के बजट सत्र में घोषणा की थी कि 3 लाख रुपये तक का फसल ऋण शून्य प्रतिशत ब्याज दर पर दिया जाएगा। इस निर्णय के फलस्वरूप किसान झीरो प्रतिशत ब्याज दर पर फसली ऋण प्राप्त कर सकेंगे क्योंकि उन्हें राज्य सरकार की ओर से ब्याज दर में तीन प्रतिशत की रियायत और केन्द्र सरकार की ओर से तीन प्रतिशत की ब्याज दर में संयुक्त लाभ मिलेगा। डॉ. पंजाबराव देशमुख ब्याज रियायत योजना में निर्धारित समय के भीतर अल्पावधि फसल ऋण चुकाने वाले किसानों को प्रोत्साहन के रूप में ब्याज रियासत दी जाती है। योजना के तहत निर्धारित समय के भीतर अल्पावधि फसल ऋण चुकाने वाले किसानों को रुपये की ऋण सीमा तक 3% ब्याज रियायत दी जाती थी। निर्धारित समय तक मंत्रिमंडल ने उन्हें ऋण चुकाने पर 2% ब्याज दर की छूट देने का निर्णय लिया है। निर्धारित समय के भीतर अल्पावधि फसल ऋण चुकाने वाले किसानों को 3 लाख रुपये की सीमा तक ऋण पर 3 (तीन प्रतिशत) ब्याज रियायत मिलेगी। अत: वर्ष 2021-22 से यदि किसानों को निर्धारित अवधि के भीतर 3 लाख रुपये की ऋण सीमा तक अल्पकालीन 6%ऋण चुकाया जाता है। इससे किसान कृषि आय बढ़ाने के लिए आधुनिक कृषि आदानों जैसे बीज, उर्वरक, दवाएं खरीदने में सक्षम होंगे। इससे कृषि उत्पादन में वृद्धि होगी। साथ ही ब्याज में राहत पाने के लिए किसान फसल ऋण को समय पर चुकाएंगे। इससे बैंकों की रिकवरी को बढ़ाकर वित्तीय स्थिति को सुधारने में मदद मिलेगी।



 75
 0

Read More

By  Public Reporter
posted : Fri/Jun 18, 2021, 12:06 PM - IST

Wardha / पिक ऋण वितरण का वेग... / वर्धा/ कोरोना काल में व्यापारियों के साथ-साथ किसानों को भी भारी नुकसान हुआ है। इस साल मानसून की अच्छी शुरुआत से किसानों की फसलों में भी सुधार होने की संभावना है। हालांकि पिछले साल की तुलना में इस साल फसल ऋण वितरण के आंकड़े अच्छे हैं, लेकिन इसमें तेजी लाने की जरूरत है। इसके लिए बैंक किसानों की समस्याओं को समझा जाए।कोई तकनीकी समस्या हो तो जिला अग्रणी बैंक के प्रबंधक से संपर्क कर समाधान किया जाए। सभी किसानों को पिक ऋन के नवीनीकरण के लिए पत्र या एसएमएस द्वारा सूचित किया जाना चाहिए और साथ ही किसानों को नियमित पिकर खाताधारकों के लिए सरकार द्वारा घोषित ब्याज राहत योजनाओं के बारे में सूचित किया जाना चाहिए। फसल योजना का लाभ लेने के लिए किसानों को भी प्रोत्साहित किया जाना चाहिए। जिन बैंकों के अधिकतम ऋणों का वितरण औसत से कम है, उन्हें वरिष्ठ कार्यालय के साथ पत्राचार करके कार्रवाई करनी चाहिए। देशभ्रातर ने यह भी कहा कि खरीफ सीजन बीनने वालों का लक्ष्य 30 जून तक पूरा कर लिया जाना चाहिए।           जिला अग्रणी बैंक के जिला प्रबंधक वैभव लहाने ने बताया कि इस वर्ष 14 जून तक 13,034 किसानों को 25.50 प्रतिशत की दर से 151.48 करोड़ रुपये का वितरण किया जा चुका है| पिछले वर्ष 15 जून तक 7,920 किसानों को 88.13 करोड़ रुपये का ऋण वितरित किया गया था। बैठक की शुरुआत में, प्रमुख जिला प्रबंधक वर्धा ने "कोरोना काल" के दौरान बैंक कर्मचारियों द्वारा प्रदान की गई सेवाओं के साथ-साथ ग्राहकों को कोरोना संक्रमण से बचाने के लिए किए गए विभिन्न उपायों जैसे बैरिकेडिंग, सर्कल बनाना, मंडप बनाना आदि के बारे में बताया। छाया के लिए, गेट पर सैनिटाइजर की व्यवस्था। पर बधाई। "बैंक एट योर डोरस्टेप" अभियान के माध्यम से लगभग 70,000 ग्राहकों को निराधार पेंशन योजना, विधवा पेंशन योजना, पीएम किसान सम्मान योजना आदि प्रदान किया गया है। ग्राम पंचायतों में हितग्राहियों को लाभ वितरण करने के लिए बैंक मिन, बैंक सखी, बैंक, ग्राम पंचायत और डाकघरों द्वारा की गई पहल और समन्वय के लिए जिला कलेक्टर प्रेरणा देशभ्रातर द्वारा विशेष धन्यवाद दिया गया| बैठक में सभी बैंकों के जिला समन्वयक/प्रतिनिधियों ने भाग लिया।



 59
 0

Read More

Share Market

More...
By  s verma
posted : Wed/Oct 14, 2020, 11:57 AM - IST

Mumbai / मॉर्गन स्टैनली- जून... /   मुंबई, ग्लोबल इन्वेस्टमेंट बैंक मॉर्गन स्टैनली का मानना है कि शेयर बाजार में तेजी बनी रही तो जून 2021 तक सेंसेक्स 45,000 के स्तर पर पहुंच जाएगा। मॉर्गन स्टैनली ने कहा, ‘हम स्टॉक्स पिकर्स मार्केट में हैं और ओवरऑल बाजार बेहतर प्रदर्शन करता रहेगा। स्टॉक्स पिकर्स मार्केट का मतलब यह है कि कुछ स्टॉक्स और सेक्टर्स के इंडेक्स ऐसे हैं जो अन्य शेयरों या बेंचमार्क की तुलना में बेहतर प्रदर्शन कर रहे हैं। साथ ही मॉर्गन स्टैनली ने निवेश के लिए डिफेंसिव के बजाय साइक्लिकल रणनीति अपनाने को तरजीह दी है।



 628
 0

Read More

By  Newssyn Team
posted : Thu/Apr 08, 2021, 12:12 PM - IST

Mumbai / मुकेश-अनिल अंबानी... /  मुंबई/सेबी ने कहा अपने 85 पेज के आदेश में कहा कि रिलायंस इंडस्ट्रीज के प्रमोटर और मामले में शामिल अन्य  में अनयिमितता के मामले में यह जुर्माना लगाया गया है।  सेबी ने अपने 85 पेज के आदेश में कहा कि रिलायंस इंडस्ट्रीज के प्रमोटर और मामले में शामिल अन्य संबंधित लोगों ने कंपनी की करीब 7 फीसदी हिस्सेदारी का अधिग्रहण करने की बात सही तरीके से नही बताई  क्या है मामला?  यह मामला जनवरी 2020 का है जब 1994 में जारी 3 करोड़  वारंट के कन्वर्जन के द्वारा रिलायंस इंडस्ट्रीज में प्रमोटर की हिस्सेदारी में 6.83 फीसदी की बढ़त की गई थी। इसमे आटोप ऐसे है कि प्रमोटर समूह द्वारा  सेबी के रेगुलेशन 1997 के नियमों के मुताबिक  नही लाया गया। इस नियम के अनुसार जब कोई प्रमोटर ग्रुप 5 फीसदी से ज्यादा अतिरिक्त  हिस्सेदारी ले रहा है तो उसे उसी वित्त साल माइनॉरिटी इनवेस्टर्स के लिए एक ऑफर लाना होता है। होगी कार्रवाई अपने आदेश में सेबी ने  कहा कि प्रमोटर ग्रुप और अन्य आरोपियों ने टेकओवर रेगुलेशन 11(1) का उल्लंघन किया है। सेबी ने इसके लिए मुकेश अंबानी, अनिल अंबानी,टीना अंबानी रिलायंस इंड्रस्ट्रीज होल्डिंग, रिलायंस रियल्टी और कई  अन्य लोगो एव कंपनीयों पर 25 करोड़ का जुर्माना लगाया है।यह जो जुर्माना सेबी ने लगाया है यह सबको मिलकर देना होगा। अगर आदेश के 45 दिन के भीतर  नही दिया गया तो सेबी इन लोगों के खिलाफ कार्रवाई करेगी.



 144
 0

Read More

Economic Policy

More...
By  Public Reporter
posted : Tue/May 04, 2021, 01:32 AM - IST

New Delhi / बंगाल में चुनाव... / बंगाल समेत पांच राज्यों में चुनाव निपटते ही अब महंगाई का झटका लोगों को सहना पड़ेगा। कोलकाता में पेट्रोल-डीजल की कीमत 14 से 17 पैसे तक बढ़ गई है। पश्चिम बंगाल में चुनाव नतीजे आते ही पेट्रोल-डीजल के दामों में बढ़ोतरी हो गई है। कोलकाता में एक लीटर पेट्रोल का दाम 14 पैसे बढ़ गया है। राजधानी में पेट्रोल की कीमत अब 90.76 रुपये प्रति लीटर हो गया है। ऐसे ही डीजल के दाम 17 पैसे बढ़कर 83.78 रुपये प्रति लीटर हो गया है। बंगाल में 29 अप्रैल को आखिरी चरण का चुनाव हुआ था और 2 मई को विधानसभा चुनाव के नतीजे घोषित हो गए। ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस ने बंगाल में लगातार तीसरी बार सत्ता में वापसी कर ली है। 5 मई को ममता बनर्जी तीसरी बार बंगाल के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेंगी। चुनाव में टीएमसी 292 में से 213 सीटें जीतकर लगाकर तीसरी बार सत्ता में आई और बीजेपी को 77 सीटों पर जीत हासिल हुई है। ​पिछले दो महीने में देश के कई राज्यों में विधानसभा चुनाव की प्रक्रिया चल रही थी। इस दौरान करीब दो महीने तक पेट्रोल-डीजल के दाम में जनता को राहत मिलती रही। लेकिन अब चुनाव खत्म होते ही तेल कंपनियों ने फिर से दाम बढ़ाने शुरू कर दिए हैं। मंगलवार को दिल्ली में पेट्रोल जहां 15 पैसे प्रति लीटर महंगा हुआ तो डीजल में भी 18 पैसे प्रति लीटर की बढ़त हुई। गौरतलब है कि पांच राज्यों में विधानसभा और उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव के नतीजे आ चुके हैं। सरकारी तेल कंपनियों ने आज पेट्रोल और डीजल के दाम में बढ़ोतरी कर दी।



 141
 0

Read More


By continuing to use this website, you agree to our cookie policy. Learn more Ok